अक्टूबर 5, 2022

____आपको रखे सबसे आगे______

भागलपुर के विधायक सह कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजीत शर्मा द्वारा आज सबौर प्रखण्ड क्षेत्र के रजन्दीपुर व फरका पंचायत में गंगा में हो रहे भीषण कटाव का पहुँच कर निरीक्षण किया गया ।

Report – Sanjay Kumar

विधायक शर्मा ने कटाव स्थल पर वहाँ के बासिन्दों एवं बात की तो उनलोगो द्वारा बताया गया कि जो किसानों से कटावनिरोधी कार्य अभी किया जा रहा है वो अगर पहले किया जाता तो अभी ऐसे हालात नहीं होते। कटाव को लेकर विधायक शर्मा ने सरकार पर निशाना साधा और कहा कि जैसा यहाँ के निवासियों ने बताया है कि लगभग एक हजार एकड़ से उपर जमीन इस बर्ष कट गया है। जब यहाँ की जमीन में कटाव प्रारंभ होता है तब प्रशासन द्वारा बोरी में बालू भरकर कटाव रोकने का प्रयास किया जाता है। यदि इसकी मुकम्मल तैयारी पहले से किया जाता तो ऐसे हालात पैदा हीं नहीं होते अभी किया गया कार्य सिर्फ खानापूर्ति है। प्रशासन द्वारा सरकार को गलत रिपोर्ट दिया जाता है तथा कटाव निरोधी कार्य में खुली लूट मची हुई है, जिसका खामियाजा यहाँ की गरीब जनता को भुगतना पड़ रहा है। जमीन कट जाने के कारण यहाँ के लोग विस्थापित हो रहे है। किसानों द्वारा गया कि यहाँ पर कई बताया हेक्टेयरों में लगी फसल कटाव के कारण बर्बाद हो गया जिसका अभी तक सरकार द्वारा मुआवजा नहीं दिया गया है।

विधायक शर्मा ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री बिहार सरकार से आग्रह करूँगा कि किसानों को नुकसान हुए फसल का तत्काल मुआवजा दिया जाय तथा साथ ही साथ कटावग्रस्त जमीन पर फिर से मिट्टी भराई कर कृषि योग्य जमीन बनाने की योजना बनायी जाय एवं कटाव से सुरक्षा हेतु सुरक्षात्मक दीवार एवं बोल्डर पिचिंग करना अतिआवश्यक है नहीं तो जिस प्रकार से गंगा में कटाव हो रहा है, भागलपुर के विधायक सह कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजीत शर्मा द्वारा आज सबौर प्रखण्ड क्षेत्र के रजन्दीपुर व फरका पंचायत में गंगा में हो रहे भीषण कटाव का पहुँच कर निरीक्षण किया गया ।

विधायक शर्मा ने कटाव स्थल पर वहाँ के बासिन्दों एवं बात की तो उनलोगो द्वारा बताया गया कि जो किसानों से कटावनिरोधी कार्य अभी किया जा रहा है वो अगर पहले किया जाता तो अभी ऐसे हालात नहीं होते। कटाव को लेकर विधायक शर्मा ने सरकार पर निशाना साधा और कहा कि जैसा यहाँ के निवासियों ने बताया है कि लगभग एक हजार एकड़ से उपर जमीन इस बर्ष कट गया है। जब यहाँ की जमीन में कटाव प्रारंभ होता है तब प्रशासन द्वारा बोरी में बालू भरकर कटाव रोकने का प्रयास किया जाता है। यदि इसकी मुकम्मल तैयारी पहले से किया जाता तो ऐसे हालात पैदा हीं नहीं होते अभी किया गया कार्य सिर्फ खानापूर्ति है। प्रशासन द्वारा सरकार को गलत रिपोर्ट दिया जाता है तथा कटाव निरोधी कार्य में खुली लूट मची हुई है, जिसका खामियाजा यहाँ की गरीब जनता को भुगतना पड़ रहा है। जमीन कट जाने के कारण यहाँ के लोग विस्थापित हो रहे है। किसानों द्वारा गया कि यहाँ पर कई बताया हेक्टेयरों में लगी फसल कटाव के कारण बर्बाद हो गया जिसका अभी तक सरकार द्वारा मुआवजा नहीं दिया गया है।

विधायक शर्मा ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री बिहार सरकार से आग्रह करूँगा कि किसानों को नुकसान हुए फसल का तत्काल मुआवजा दिया जाय तथा साथ ही साथ कटावग्रस्त जमीन पर फिर से मिट्टी भराई कर कृषि योग्य जमीन बनाने की योजना बनायी जाय एवं कटाव से सुरक्षा हेतु सुरक्षात्मक दीवार एवं बोल्डर पिचिंग करना अतिआवश्यक है नहीं तो जिस प्रकार से गंगा में कटाव हो रहा है, ऐसे में गाँव का गाँव उजड़ जायेगा।