अक्टूबर 5, 2022

____आपको रखे सबसे आगे______

बिहार में पूर्ण शराब शराबबंदी के बावजूद शराब तस्कर मानने को तैयार नहीं। नीतीश बाबू जरा बता तो दीजिए शराब तस्कर इस कदर बिहार में आग कैसे जाते हैं

Report-Sanjay kumar

बिहार में पूर्ण शराब शराबबंदी के बावजूद शराब तस्कर मानने को तैयार नहीं।बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जहां नशा मुक्त बिहार बनाना चाह रहे हैं वही दूसरी तरफ उनके सपने को तार तार करने के लिए यहां के शराब तस्कर लगे हुए हैं।शराब की तस्करी अगर देखना हो तो आप बिहार में खुलेआम देख सकते हैं ।आए दिन हर गली ,हर मोहल्ले में शराब तस्कर पकड़ा रहे हैं।कई छोटे-बड़े शराब तस्कर को पुलिस धर दबोचती है फिर भी शराब तस्कर होम डिलीवरी करने से बाज नहीं आ रहे।पुलिस छापेमारी कर ,गश्ती के दौरान कई लोगों को गिरफ्तार करती है लेकिन पूर्णरूपेण शराबबंदी अभी भी नहीं हो पाई है। आखिर इसका कारण क्या हो सकता है?
ताजा मामला लोदीपुर थाना क्षेत्र का है।

गुप्त सूचना के आधार पर लोदीपुर थाना क्षेत्र के पास लोदीपुर पुलिस ने थाना से महज ही 100 मीटर की दूरी पर एक टेंपो से भारी मात्रा में विदेशी शराब बरामद किया। पुलिस को देखते ही टेंपो चालक फरार हो गया ।टेंपो में बने तहखाना के अंदर 80 पीस एंपोरियल ब्लू (आधा) फूल 20 पीस, (बड़ा) 18 पीस (आरएस)छोटा, 12पीस ,बड़ा पांच पीस बियर, गॉडफादर ,सिग्नेचर ,(बढ़ा )दो पीस (छोटा) एक पीस ,100 वाईपर दो पीस, आफ्टर डार्क 3 बड़ा ,6 छोटा, ब्लेंडर प्राइड दो बड़ा चार छोटा बरामद किया।

गुप्त सूचना के आधार पर लोदीपुर थाना क्षेत्र के पास लोदीपुर पुलिस ने थाना से महज ही 100 मीटर की दूरी पर एक टेंपो से भारी मात्रा में विदेशी शराब बरामद किया। पुलिस को देखते ही टेंपो चालक फरार हो गया ।टेंपो में बने तहखान
पूरे बिहार में शराबबंदी होने के बावजूद शराब तस्कर इस तरह खुलेआम शराब की तस्करी कर रहे हैं इस पर नकेल कसना पुलिस के लिए बहुत ही बड़ी चुनौती बनती जा रही है। कहीं विरोधी दल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की छवि को खराब करने के लिए तो ये हथकंडा नहीं अपना ही है? यह भी एक सवाल उठता है?